कबीरधाम जिले में हुए फर्जी नक्सली मुठभेड़ की जांच के साथ पीड़ित परिवार को मिले आर्थिक सहयोग एवं सरकारी नौकरी

दीनू नेताम/रायपुर-रविवार दिनांक 6/9/2020 को शितलापानी पंचायत के आश्रित ग्राम बालसमुंद के निर्दोष आदिवासी स्व श्री झामसिंह ध्रुव को फर्जी तौर से नक्सली बताकर बालाघाट पुलिस के द्वारा फर्जी मुठभेड़ में गोली मारकर हत्या कर दी गयी, परन्तु वर्तमान समय मे शासन और प्रशासन द्वारा दोषियों पर किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की गई, पीड़ित परिवार के विषय मे अब तक संज्ञान नहीं लिया गया है जिससे आदिवासी समाज आक्रोशित है । आदिवासी समाज के साथ इस प्रकार का व्यवहार निंदनीय है एवं सर्व आदिवासी समाज युवा प्रभाग इसकी कड़ी निंदा करता है । छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के सदस्य नीतिन पोटाई सचिव एच के सिंह उईके एवं निज सहायक जयसिंह राज द्वारा निरीक्षण के दौरान प्रारंभिक तौर पर यह पाया कि मृतक झाम सिंह ध्रुव नक्सली गतिविधियों में शामिल नहीं था तथा मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा उन्हें नक्सली बताकर पदोन्नति पाने के उद्देश्य से फर्जी कार्यवाही की गई। इस बात कि पुष्टि स्व झाम सिंह ध्रुव के साथी मित्र नेम सिंह ध्रुव द्वारा अनुसूचित जनजाति आयोग को दिए गए बयान से होती है।उक्त घटना को लेकर आदिवासी सेना के प्रदेश अध्यक्ष दीनू नेताम, सर्व आदिवासी समाज युवा प्रभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष दीनू नेताम ने कहा कि फर्जी मुठभेड़ की जांच जल्द से जल्द हो एवं दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की जाए, पीड़ित परिवार को आर्थिक सहयोग के साथ साथ सरकारी नौकरी देने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.