चीन से बिगड़ते संबंध से सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट और ऐमजॉन को थमाया नोटिस…

नई दिल्ली-फेस्टिव सीजन पर सेल की शुरुआत हो चुकी है। वालमार्ट स्वामित्व वाली फ्लिपकार्ट पर 16 अक्टूबर से बिग बिलियन डेज सेल की शुरुआत हुई। 17 अक्टूबर से ऐमजॉन ग्रेट इंडिया फेस्टिवल की शुरुआत हुई है। इस बीच सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों को नोटिस जारी कर कहा है कि वे अपने प्लैटफॉर्म पर बिकने वाले सामान पर कंट्री ओरिजिन की जानकारी नहीं दे रहे हैं।

15 दिन के भीतर देना होगा नोटिस का जवाब

यह नोटिस उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं जन वितरण मंत्रालय के तहत आने वाले उपभोक्ता मामलों के विभाग द्वारा जारी किए गए। सूत्रों ने कहा कि ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट के अलावा नोटिस अन्य ई-वाणिज्य कंपनियों को भी जारी किए गए हैं। कंपनियों से 15 दिन के भीतर नोटिस का जवाब देने को कहा गया है। सभी कंपनियों को एक जैसी शब्दों वाले इस नोटिस में कहा गया है, ‘यह पाया गया कि कुछ ई-वाणिज्य कंपनियां अपने डिजिटल मंच से बिकने वाले उत्पादों पर जरूरी जानकारी नहीं दे रही हैं जबकि यह ‘लीगल मेट्रोलॉजी (पैकेज्ड कमोडिटीज) रूल्स’, 2011 के तहत जरूरी है।’

दोनों कंपनियों ने कानून का उल्लंघन किया है

फ्लिपकार्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और ऐमजॉन डेवलपमेंट सेंटर इंडिया प्राइवेट लि. को भेजे गए नोटिस के अनुसार वे ई-वाणिज्य इकाइयां हैं और इसीलिए उन्हें यह सुनिश्चित करना है कि ई-वाणिज्य सौदों के लिए उपयोग होने वाले डिजिटल और इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क पर सभी जरूरी जानकारी दी जाए।। नोटिस के अनुसार दोनों कंपनियों ने जरूरी सूचना नहीं दी और कानून का उल्लंघन किया।

अब तक 177 चाइनीज ऐप्स बैन

बता दें कि जून के महीने में चीन से सीमा विवाद बढ़ने के बाद सरकार ने इस नियम को लागू किया था। इसका मकसद मेड इन चाइना प्रॉडक्ट को कम करना है। बता दें कि भारत सरकार अब तक 177 चाइनीज मोबाइल ऐप को भी बैन कर चुकी है। इसके अलावा चीन से आयात होने वाले सामान की विशेष जांच की जा रही है। फिलहाल इस संबंध में रॉयटर्स के सवालों का फ्लिपकार्ट और ऐमजॉन की तरफ से कोई जवाब नहीं दिया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.