जब दारा सिंह के पैर रखते ही टेढ़ा हो गया था रावण का भारी भरकम रथ, फिर ऐसा शूट हुआ था सीन

फेमस सीरियल रामायण को अरसे बाद दोबारा टीवी पर टेलिकास्ट किया जा रहा है। हालांकि, इसे दूरदर्शन पर दोबारा दिखाया जा चुका है लेकिन एक दूसरे चैनल पर फिर से इसे दर्शकों के लिए प्रसारित किया जा रहा है। इस बीच रामायण के लक्ष्मण यानी सुनील लहरी हर एपिसोड के प्रसारण के बाद उससे जुड़े
 


जब दारा सिंह के पैर रखते ही टेढ़ा हो गया था रावण का भारी भरकम रथ, फिर ऐसा शूट हुआ था सीन   

फेमस सीरियल रामायण को अरसे बाद दोबारा टीवी पर टेलिकास्ट किया जा रहा है। हालांकि, इसे दूरदर्शन पर दोबारा दिखाया जा चुका है लेकिन एक दूसरे चैनल पर फिर से इसे दर्शकों के लिए प्रसारित किया जा रहा है। इस बीच रामायण के लक्ष्मण यानी सुनील लहरी हर एपिसोड के प्रसारण के बाद उससे जुड़े दिलचस्प किस्से सुना रहे हैं। अब उन्होंने बताया रामायण में जुड़ी बूटी और हनुमान- रावण की लड़ाई को लेकर एक स्टोरी सुनाई है।

वीडियो में सुनील लहरी कहते हैं, ”जब हम शूटिंग कर रहे थे तो एक बार बहुत बारिश हुई। तीन-चार घंटे में पानी घुटने तक भर गया। ऐसे में रूम से सेट तक जाना मुश्किल हो गया था। हमें शूटिंग करनी थी। दूरदर्शन में एपिसोड टेलिकास्ट होना था। इस दौरान हमने डिसाइड किया कि शार्ट्स पहनकर सेट तक जाएंगे और वहां पर अपना कॉस्ट्यूम बदलेंगे। इस तरह हमने शूट शुरू किया।”

”इस एपिसोड में आपने देखा होगा कि राम और रावण के बीच लड़ाई होती है। और उस फाइट में हनुमानजी, रावण को गदा से मारते हैं। जब यह शूट हो रहा था तो हनुमान जी रथ के ऊपर चढ़े थे तो रथ टेढ़ा हो गया था। इस दौरान रथ टूट भी सकता था। दाराजी रेस्लर थे और उनका वजन भी अच्छा-खासा था। इसके बाद स्टूल पर दाराजी को खड़ा करके सीन शूट किया गया था।”

सुनील लहरी ने आगे कहा, ”किसी ने मुझसे पूछा था कि जो चोट लगती है तो क्या उसके लिए आपने स्टीकर यूज किया था। तो मैंने बताना चाहता हूं कि उस समय स्टीकर नहीं हुआ करते थे। रूई को गम की मदद से शरीर पर लगा दिया जाता था और उस पर आर्टिफिशियल ब्लड लगाया था। फिर ब्रश की मदद से उसे ऐसा कर दिया जाता था कि वह घाव की तरह दिखने लगता था। इसके साथ ही सुनील लहरी ने बताया कि जो रामायण में जड़ी बूटी दिखाई गई है वो वास्तव में पालक था। उसे पीसकर लगाया गया था।”

From around the web